गौतम बुद्ध के बारे में 18 रोचक बाते | Gautam buddha facts hindi

0
276 views

gautam buddha facts in hindi

गौतम बुद्ध के बारे में 18 रोचक बाते | Gautam buddha facts In Hindi

1. गौतम बुद्ध का जन्म 563 ईसा पूर्व में कपिलवस्तु के लुंबिनी नामक स्थान पर हुआ था।

2. इनके पिता का नाम शुद्धधन और था जो एक शाक्य गण की मुख्य थे और माता का नाम मायादेवी था ।

3. इनके बचपन का नाम सिद्धार्थ था और इनका विवाह 16 वर्ष की अवस्था में यशोधरा के साथ हुआ।

4. इनको बिना अन ग्रहण किए 6 वर्ष के कठोर तपस्या के बाद 35 वर्ष की आयु में वैशाखी पूर्णिमा की रात (फल्गू) नदी के किनारे पीपल वृक्ष के नीचे इन्हें ज्ञान की प्राप्ति हुई थी।

5. बुद्ध ने अपना पहला उपदेश सारनाथ में दिया जिसे बौद्ध ग्रंथों में धर्मचक्रपरिवर्तन कहा गया है ।

6. इनकी माता की मृत्यु उनके जन्म के सातवें दिन ही हो गई थी तब इनका लालन-पालन इनकी सौतेली मां प्रजापति गौतमी ने किया था।

7. यह बौद्ध धर्म के संस्थापक थे इन्हें एशिया का, ज्योति पूज्य भी कहा जाता था।

8. बुद्ध ने अपने उपदेश जनसाधारण पाली भाषा में दिए है।

9. बौद्ध धर्म अनीशरवादी है इसमें आत्मा की परिकल्पना भी नहीं है और यह पुनर्जन्म की मान्यता में विश्वास रखती है।

10. बुद्ध का अंतिम और परम प्रिय शिष्य आनंद था जो चौबीस घंटे बुद्ध के साथ रहकर उनकी सेवा करता था ।

Facts about gautam buddha in hindi 11-18 गौतम बुद्ध के बारे में 10 लाइन

11. बुद्ध के गुरू विश्वामित्र थे उन ही सिद्धार्थ ने वेद और उपनिषद्‌ के साथ ही राजकाज और युद्ध-विद्या की शिक्षा ग्रहण की थी।

12. भगवान बुद्ध की मृत्यु एक व्यक्ति द्वारा परोसे गए विषाक्त भोजन करने की वजह से हुई थी।

13. बौद्ध ध्वज या पंचशील ध्वज यह ध्वज बौद्ध धर्म के प्रतीक एवं बौद्धों के सार्वभौमिक प्रतिनिधित्व के लिए 19 वीं सदी में बनाया गया था।

14. बौद्ध धर्म में सफेद झंडा शांति, पवित्रता और सौहार्द्र का प्रतीक रहा माना जाता है।

15. वर्तमान में धर्मचक्र बौद्धधर्म का प्रमुख प्रतीक है जो भारत के राष्ट्रीय-ध्वज (तिरंगा-ध्वज) के मध्य की पट्टी में धर्मचक्र अशोक चक्र रखा गया है। यूनिकोड में धर्मचक्र के लिये एक संकेत प्रदान किया गया है।

16. महात्मा बुद्ध के उपदेश सीधे-सादे थे उन्होंने कहा कि संसार दु:खों से भरा हुआ है दु:ख का कारण इच्छा या तृष्णा है इच्छाओं का त्याग कर देने से मनुष्य दु:खों से छूट जाता है ।

17. उनका कहना था कि ,जिस तरह एक मोमबत्ती बिना आग के खुद नहीं जल सकती, उसी तरह एक इंसान बिना आध्यात्मिक जीवन के जीवित नहीं रह सकता

18 बुद्ध की मृत्यु 80 वर्ष की आयु में कुशीनगर में हुई थी आज भी उनके लाखों अनुभवी उन्हें भगवान के समान पूजते हैं।

Related Facts –

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here