टिहरी बांध के बारे में 20 जानकारी | Tehri Dam Facts In Hindi

0
314 views

tehri dam facts in hindi

टिहरी बांध के बारे में जानकारी | tehri dam facts in hindi 

 1. टिहरी बांध एक प्राथमिक बांध है जो उत्तराखंड के  टिहरी राज्य में भागीरथी तथा भिलंगना नदी के संगम पर स्थित है।

2. उत्तराखंड के गढ़वाल मंडल में स्थित इस बांध को रामतीर्थ सागर बांध के नाम से भी जाना जाता है।

3. टिहरी बांध के नाम से जाना  जाने वाले इस शहर को 1815 में राजा  सुदर्शन शाह ने बसाया था।

3.  टिहरी बांध एशिया का सबसे ऊंचा और दुनिया का चौथा सबसे बड़ा बांध है जिसकी ऊंचाई  260. 5 मीटर है ।

4. टिहरी बांध  का डिजाइन जेम्स ब्रुन ने  बनाया था तथा  1986 में रूस के साथ टिहरी बांध निर्माण समझौता हुआ था।

5. टिहरी बांध बनाने की अनुमति योजना आयोग के द्वारा 1972 में दी गई ।

6. इस बांध का प्रथम चरण=1000 मेगा वाट का है जो 30 जुलाई 2006 को शुरू किया गया था जिससे राज्य को 12%  बिजली रॉयल्टी के रूप में मुक्त मिलती है ।

7. आपको बता दे की टिहरी बांध के विरोध में  सर्वप्रथम कमलेंदूंती शाह ने आवाज उठाई थी।

8. यदि टिहरी बांध किसी भी तरह से टूट जाता है तो ऋषिकेश, हरिद्वार, बिजनौर, मेरठ कहीं शहर इसके पानी में जलमग्न हो जाएंगे।

9. टिहरी  बांध की 2400 मेगावाट विद्युत उत्पादन क्षमता है जो पहले 600 मेगावाट की परियोजना थी।

10. सुंदरलाल बहुगुणा ने बांध पर धरना देकर इसे 76 दिनों तक बांध निर्माण कार्य को रोक रखा था।

11-15 Tehri dam interesting facts In hindi –

11. टिहरी बांध की अंतिम सुरंग टी वन टू के नाम से जानी जाती हैं जिसे 2005 में बंद कर दिया गया  तब पुरानी टिहरी  पानी में समा गया था ।

12. टिहरी बांध  का निर्माण कार्य  2006 में पूरा हुआ ।

13. टिहरी डेम एक  कृतिम झील है जो अत्यधिक सुंदर है यहां पर विभिन्न पर्यटन घूमने आते हैं।

14. इंडियन नेशनल ट्रस्ट फॉर आर्ट एंड कल्चर हेरिटेज के द्वारा एक रिपोर्ट में यह कहा गया है की यह 23 गांव अपने आसपास के अन्य गांव को पानी में जलमग्न  कर देगा।

15. अनेक वैज्ञानिक द्वारा कहा गया है कि टिहरी डैम गहन भूकंप सक्रियता वाला क्षेत्र में आता है इसलिए भविष्य में भूकंप आने का खतरा बना हुआ रहता है।

16-20 Tehri dam information in hindi –

16. टिहरी बांध परियोजना को राष्ट्र के गांव की संज्ञा दी गई है इस बांध को उत्तर प्रदेश सिंचाई विभाग ने 1978 में प्रारंभ किया था ।

17. टिहरी बांध परियोजना की लागत 197 करोड़ रुपए थी लेकिन 1986 में सोवियत रूस के राष्ट्रपति मिखाइल गोर्बाचोव के भारत आगमन से टिहरी बांध निर्माण समझौते होने के बाद केंद्र सरकार ने इस परियोजना को प्रथम चरण 1000 मेगावॉट तथा द्वितीय चरण 1400 मेगावॉट करने की घोषणा की गई है

18. टिहरी बांध परियोजना के बनते ही 1 लाख लोगों का निवास प्रभावित हुआ  जिनके पुनर्वास के लिए 582 करोड रुपए की व्यवस्था की गई है।

19. आपको बता दें कि टिहरी बांध से 7. 5 किमी गहराई में स्थित खतरनाक भूकंप अधिकेंद्रीय क्षेत्र महार  टियर ट्रस्ट के ऊपर स्थित है।

20. क्या आप जानते है अगर ये बांध को खाली करे तो सिर्फ 22 मिनट का समय लगेगा. महज 63 मिनटों के भीतर ऋष‍िकेश जल में 260 मीटर की गहराई में समा जाएगा. और उसके बाद हरिद्वार भी समा जायेगा

 

Related Facts – 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here