सम्राट अशोक के बारे में 19 रोचक बाते | Samrat Ashok facts in hindi

0
150 views

Samrat Ashok facts in hindi.,,

सम्राट अशोक के बारे में 19 रोचक बाते | Samrat Ashok facts in hindi

1. आशोक का जन्म 304 ईसा पूर्व पाटलिपुत्र पटना में हुआ था इनके पिता का नाम बिंदुसार और माता का नाम सुभद्रागी था।

2. पुराणों में अशोक को अशोकवर्धन कहा गया है।

3. अशोक ने अपने अभिषेक के 8 वर्ष बाद लगभग 261 वर्ष पूर्व में कलिंग पर आक्रमण किया और कलिंग की राजधानी तोसली पर अधिकार कर लिया।

4. अशोक के स्तंभ लेखो की संख्या 7 है जो केवल ब्राह्मी लिपि में लिखी गई है यह अलग-अलग स्थानों से प्राप्त हुई है।

5.  अशोक के अभिलेखों को तीन भागों में बांटा गया है   शिलालेख , स्थंभ लेख, और  गुहालेख इसके  शिलालेख की खोज 1750 ईस्वी में पद्रेटी फेंथेलर  ने की थी ।

6. अशोक के सातवें एवं आटवे  शिलालेख में इनकी तीर्थ यात्रा का उल्लेख किया गया।

7. अशोक ने बौद्ध धर्म के प्रचार के लिए अपने पुत्र महेंद्र एवं पुत्री संघमित्रा को श्रीलंका भेजा और बौद्ध परंपराओं और उनके लिपियों के अनुसार अशोक ने 84,000 स्तूपो का निर्माण किया था।

8. भारत में शिलालेख का प्रचलन सर्वप्रथम अशोक ने किया था जिसमें ब्राह्मी, खरोष्ठी लिपि , ग्रीक एवं और अरमाइक लिपि का प्रयोग हुआ है।

9. खरोष्ठी  लिपि दाएं से बाएं और लिखी जाती है इसके अभिलेखों को पढ़ने के लिए सबसे पहले 1837 ईसवी में जेम्स प्रिंसेस को सफलता मिली थी।

10.  अशोक का सबसे लंबा अभिलेख सातवां अभिलेख है और जो सबसे छोटा स्तंभ लेख रूमीदेई है ।

samrat ashok information in hindi 11-19

11.  मौर्य शासन  137 वर्षों तक रहा भागवत पुराण के अनुसार मौर्य वंश में 10 राजा थे जबकि वायु पुराण के अनुसार  9 राजा थे इसका अंतिम राजा बृहद्रथ था।

12. अशोक के समय मौर्य साम्राज्य में प्रांतों की संख्या 5 थी  और इन प्रांतों को चक्र कहा जाता था ।

13. अशोक के स्तंभ लेख प्रयाग स्तंभ लेख, दिल्ली टोपरा, दिल्ली मेरठ, रामपुरवा, लोरिया आदि स्थानों से प्राप्त हुए हैं जो अशोक के बारे में जानकारी देते है।

14. कहा जाता है कि उक्तगुप्त नामक बौद्ध भिक्षु ने अशोक को बौद्ध धर्म की शिक्षा दी थी ।

15. राजगद्दी पर बैठने के समय अशोक अवंति का राज्यपाल था ।

16.  सम्राट अशोक के जीवन में  बनाया गया अशोक चिन्ह आज भारत का  राष्ट्रीय चिन्ह के रूप में प्रतीत है।

17. अशोक के सिद्धांतों को धम्म नीति कहा जाता है इन्होंने अपने जीवन में 20 से अधिक विद्यालयों की स्थापना की ।

18. अशोक का कालसी शिलालेख देहरादून के विकास नगर के पास यमुना तथा ठोस नदी के संगम पर स्थित है यह 257 ईसा पूर्व का लेख है जो जॉन फॉरेस्टर अंग्रेज द्वारा 1860 ईस्वी में खोजा गया था  ।

19. अशोक के कालसी शिलालेख में  प्राकृति भाषा व ब्राह्मी लिपि में यह लेख मौर्य सम्राट अशोक के वृत्त शिलालेख दीर्घ  का भाग है ।

Related Facts –

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here