मंगल पांडे के बारे में रोचक बाते | Facts about mangal pandey in hindi

0
127 views

mangal pandeyfacts in hindi

मंगल पांडे के बारे में रोचक बाते | Facts about mangal pandey in hindi

1. मंगल पाण्डेय एक भारतीय स्वतंत्रता सेनानी थे जिन्होंने 1857 में भारत के प्रथम स्वाधीनता संग्राम में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

2. मंगल पाण्डेय का जन्म भारत के  उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के नगवा नामक गांव में 30 जनवरी 1831 को एक भूमिहार ब्राह्मण परिवार में हुआ था।

3. इनके पिता का नाम दिवाकर पांडे था उस समय जमींदार ब्राह्मण को भूमिहार कहा जाता है।

4.  विद्रोह का प्रारम्भ एक बंदूक की वजह से हुआ था  जिसमे कारतूस में लगी हुई चर्बी सुअर और गाय के मांस से बनायी जाती है।

5. वो ईस्ट इंडिया कंपनी की फौज की 34वीं बंगाल नेटिव इनफैंट्री में थे।

मंगल पांडे के बारे में पांच वाक्य

6. मंगल पांडे ने एनफील्ड पी-53 राइफल का विरोध किया, जिसके कारतूस पर सुअर और गाय की चर्बी लगी थी।

7.  आपको बता दे की, मंगल पांडे को 8 अप्रैल, 1857 को फांसी की सजा दी गई थी।

8. भारत के स्वाधीनता संग्राम में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका को लेकर भारत सरकार द्वारा उनके सम्मान में सन् 1984 में एक डाक टिकट जारी किया गया।

9. मंगल पांडे ने ”फिरंगी मारो” का नारा भी दिया और  29 मार्च 1857 को मंगल पांडे ने दो ब्रिटिश अफसरों पर हमला किया था।

10.  8 अप्रैल को मां भारती के अमर शहीद मंगल पांडे  की  पुण्यतिथि मनाई जाती है  ( सरकार के खिलाफ बगावत का बिगुल बजाने वाले बैरकपुर रेजीमेंट के सिपाही मंगल पांडे को इसी ही दिन फांसी दी गई थी।

Facts about Mangal Pandey In Hindi 11-18

11. मंगल पांडे का नाम ‘भारतीय स्वाधीनता संग्राम’ में अग्रणी योद्धाओं के रूप में लिया जाता है, जिनके द्वारा भड़काई गई क्रांति की ज्वाला से अंग्रेज ईस्ट इंडिया कंपनी का शासन बुरी तरह हिल गया था।

12. क्या आप जानते हो की,मंगल पांडे को आजादी का सर्वप्रथम क्रांतिकारी माना जाता है. ‘फिरंगी’ ब्रिटिश जो उस समय देश को गुलाम बनाए हुए थे, उनको मंगल पांडे ने ऐसा सबक सिखाया की उन्हें भारत छोड़ना पड़ा।

13. आपको बता दें, बैरकपुर के जल्लादों ने मंगल पांडे को फसी देने से इंकार कर दिया था तब कलकत्ता से चार जल्लाद बुलाए गए और सूर्य  उदित होते ही  मंगल पांडे के बलिदान का समाचार संसार में प्रसारित कर दिया।

14.  क्या आपको मालूम था कि,  मंगल पांडे को 10 दिन पहले ही  फांसी दे दी थी अंग्रेजों को डर था कि मंगल पांडे ने विद्रोह की जो चिंगारी जलाई है वह देशभर में कहीं ज्वाला न बन जाए जिसके कारण अंग्रेज अधिकारी डरे हुए थे।

15. 2005 में उनके जीवन पर ‘मंगल पांडे- द राइजिंग‘ नाम की फिल्म भी बनी थी।

16. मंगल पांडे के अलावा भारतीय इतिहास में स्वाधिनता की लड़ाई में अपना योगदान करने वाले भगत सिंह और बटुकेश्वर दत्त  भी थे जिन्होंने 8 अप्रैल 1929 को दिल्ली में सेंट्रल असेंबली में बम फेंके थे।

17. मंगल पांडे  ने 1849 को  ईस्ट इंडिया कंपनी की आर्मी में भर्ती हुए थे कहा जाता है की सेना  के एक ब्रिगेड के कहने पर उन्हें इसमें शामिल किया गया था, क्यूंकि वे मार्च(परेड) बहुत तेज किया करते थे।

18. 5 अक्टूबर 1984 को भारत सरकार ने मंगल पाण्डेय के सम्मान में एक पोस्टेज स्टाम्प चालू किया, जिसमें उनकी फोटो भी अंकित थी।

Popular Facts –

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here