शतरंज के बारे में 20 रोचक तथ्य | Chess Facts In hindi

0
307 views

Chess Facts In Hindi

शतरंज के बारे में रोचक तथ्य | Chess Facts In hindi

1. शतरंज भारत के प्राचीन खेलों में से एक है और इस खेल कि उत्पत्ति भारत में ही हुई जिसे पहले ‘चतुरंग’ कहा जाता था।

2. कहा जाता है कि रावण ने सबसे पहले इस खेल को अपनी पत्नी मंदोदरी के मनोरंजन के लिये बनाया था।

3. आपको बता दू की,पहले इस खेल को केवल राजा-महाराजा खेला करते थे, जो आगे चल कर सब खेलने लगे।

4.  ऐसा माना जाता है कि यह खेल  भारत में 7 सदी में शुरू हुआ था।

5. इसको द फेडरेशन  इंटरनेशनल  डे एसेस (FIDE) इस खेल को नियंत्रित करती है  और हर 2 साल में एक बार विश्व चैंपियन तय करने के लिए प्रतियोगिता कराती है ।

6. इसके  बोर्ड को चेकर बोर्ड कहते हैं जिसमें 64 वर्ग बने होते हैं जिनमें 8 क्षेतिज  पंक्तियां बनी होती है इसके वर्ग दो विपरीत रंगों में रंग होते हैं ।

7. इस खेल को विशष ,चेकमेट, स्टेलमेट ,ग्रैंड मास्टर ,नाइट, पीसेज आदि के नामों से जाना जाता है।

8. आपको बता दू की,शतरंज एक ऐसा खेल बना जिसमें भरपूर बुद्धि का प्रयोग किया जाता है।

9. इस खेल में 64 खाने बने होते हैं तथा इसे 2 लोगों के खेलने के लिये बनाया गया था।

10. इस खेल में दोनों तरफ एक-एक राजा एवं रानी/ वजीर होते है  दोनों खिलाड़ियों के पास समान रूप से दो घोड़े, दो हाथी, दो ऊंट और आठ सैनिक होते हैं ऊंट कि जगह पहले, नाव हुआ करते था, परंतु इस खेल के अरब गमन के बाद इसमें नाव कि जगह ऊंट ने लेली।

 

Facts About Chess In hindi 11-20

 

11. विश्वनाथ आनंद भारत के अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी हैं जो कि कई बार विश्व विजेता भी रह चुके हैं।

12. भारत  में पारसियों के आने के बाद इस खेल को ‘शतरंज’ कहा जाने लगा। तो वहीं यह खेल ईरानियों के जरिये जब यूरोप पहुंचा तो इसे ‘चेस’ नाम दिया गया था ।

13.  क्या आप जानते हो की,भारत में शतरंज कि उत्पत्ति के सबूत राजा श्री चंद्र गुप्त के काल (280-250 BC) में मिलते हैं यह भी माना जाता है ।

14. शतरंज दो लोगों द्वारा 6 प्रकार के 32 मोहरो (प्रत्येक खिलाड़ी के लिए 16) के साथ बिसात पर खेला जाने वाला एक खेल है। प्रत्येक प्रकार का मोहरा खास तरीके से आगे बढ़ता है खेल का लक्ष्य शह और मात  होता है ।

15. शतरंज के प्रत्येक मोहरे का चलने का अलग-अलग तरीका होता है। विरोधी के मोहरे को काटने की स्थिति को छोड़कर चालें हमेशा किसी न किसी रिक्त वर्ग में ही चली जाती हैं।

16. शतरंज के नियम पहली बार 16वीं शताब्दी के दौरान इटली में बने।

17. शतरंज के नियमों का पहला ज्ञात प्रकाशन लुई रेमिरेज डी ल्यूसिना   द्वारा एक पुस्तक के रूप में वर्ष 1497 के आस-पास, वज़ीर/रानी, फील तथा प्यादे के आधुनिक रूप में परिवर्तित होने के तुरंत बाद किया गया था।

18.  शतरंज के खेल का सबसे शक्तिशाली मोहरा मंत्री या वजीर  होता है, ।

19. शतरंज को हिंदी में चौंसठ खानों की बिसात वाला खेल, कहा जाता है।

20. ब्बारमन विजयलक्ष्मी  एक भारतीय शतरंज खिलाड़ी हैं, जो इन FIDE खिताबों को हासिल करने वाली अपने देश की पहली महिला खिलाड़ी, इंटरनेशनल मास्टर और वुमेन ग्रैंडमास्टर की खिताब रखती हैं।

Related Facts –

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here